Home ख़बरे हटके परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

109
0

चकाचौंध के युग मे जहां रिश्तों के कत्ल हो रहे हैं, लोग अपने सगे को पहचानने से मना कर रहे हैं तो वहीं गांव के लोग मिल कर किये अन्तिम संस्कार (Funeral)

Umaria – जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत आने वाली Civil Line चौकी क्षेत्र के ग्राम कछरवार में एक 70 वर्षीया विधवा बुजुर्ग महिला की बीमारी से मौत हो जाने पर उसके परिजनों ने उसको पहचानने से मना कर दिए।

परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

गांव के सरपंच को सूचना मिलने पर वो मृतिका मीरा बाई बर्मन पति Late महेश बर्मन उम्र 70 वर्ष निवासी ग्राम कछरवार के घर पहुंच कर मृतिका के परिजन रमेश बर्मन वगैरह से मिल कर उनसे बात किये तो उन लोगों ने मृतिका को पहचानने से ही इन्कार कर दिया। तब सरपंच ने पुलिस चौकी Civil Line को सूचना दिया और मृतिका के शव को जिला अस्पताल ले आये जिस पर पुलिस मर्ग क्रमांक 38/2024 दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवाई।

परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

वहीं ग्राम पंचायत कछरवार के सरपंच श्याम बिहारी राय ने Retired शिक्षक जे एल विश्वकर्मा के साथ मिल कर मानवता की मिसाल कायम करते हुए बताया कि मृतिका का नाम मीरा बाई है, हमको सूचना मिली तो हम लोग उसके घर गए परिवार वालों से बात किये तो वो लोग उसको पहचानने से इन्कार कर दिए तो हमने पुलिस को सूचना दिया और पोस्टमार्टम करवाकर हम लोग उसका अन्तिम संस्कार कर दिये।

परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

वहीं जिला अस्पताल में पदस्थ डियूटी Doctor मुकुल तिवारी ने बताया कि अभी जिला अस्पताल में एक Body आई है जिसका नाम मीराबाई बर्मन पति स्वर्गीय महेश बर्मन है ऐसी आशंका जताई गई है कि उसकी मृत्यु बीमारी के कारण हुई है उसका Postmortem करने के बाद कारणों का पता लगाया जाएगा और शव परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया जाएगा।

परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

गौरतलब है कि आज जहां खुले आम रिश्तों के कत्ल हो रहे हैं वहीं ग्राम कछरवार के Retired रिटायर्ड शिक्षक और कुछ बुजुर्ग एवं सरपंच मिल कर गांव की बुजुर्ग महिला की मृत्यु के बाद उसका अन्तिम संस्कार करके मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं तो दूसरी तरफ हर व्यक्ति मृतिका के परिजनों को कोस रहा कि वो भी नीचता की मिसाल पेश कर दिए।

परिजनों ने पहचानने से किया मना तो गांव के लोग किये Funeral

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here