Home कार्रवाई लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई रिश्वत लेते सीईओ गिरफ्तार

लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई रिश्वत लेते सीईओ गिरफ्तार

156
0

रीवा लोकायुक्त ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत करकेली को किया रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, सरपंच से एसबीएम की राशि निकालने मांगी थी रिश्वत, शिकायत के बाद आज सुबह तड़के ही रीवा लोकायुक्त ने दस हजार की रिश्वत के साथ सीईओ प्रेरणा सिंह और उनके पति कौशलेंद्र सिंह को किया गिरफ्तार।

मामला है उमरिया जिले के करकेली जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के सरकारी बंगले का, जहां आज लोकायुक्त रीवा की 15 सदस्यीय टीम ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत करकेली को दस हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया है, वहीं रिश्वत की रकम उनके पति कौशलेंद्र सिंह ले रहे थे तभी रंगेहाथ लोकायुक्त की टीम ने धर दबोचा है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रेरणा सिंह परमहंस के द्वारा सरपंच ग्राम पंचायत बहेरवाह प्रमोद यादव से नाडेप निर्माण की राशि एक लाख पचास हजार रुपए को निकालने के लिए सरपंच से दस हजार रुपये की राशि कि मांग की गई थी। जिसकी शिकायत सरपंच प्रमोद यादव ने एसपी लोकायुक्त रीवा से की और लोकायुक्त रीवा की 15 सदस्यीय टीम ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी के शासकीय आवास से दस हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। सरपंच प्रमोद यादव से दस हजार रुपए प्रेरणा सिंह के पति कौशलेंद्र सिंह लिया। लोकायुक्त रीवा दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जांच में जुटी हुई है।

सरपंच ग्राम पंचायत बहेरवाह प्रमोद यादव ने बताया कि सीईओ मैडम नाडेप निर्माण कार्य का एसबीएम मद की राशि डेढ़ लाख रुपये निकालने के लिए 10 हजार रुपये की मांग लगातार कर रही थीं, मेरे द्वारा कहा गया कि कोई बचत नही होती है कहाँ से 10 हजार रुपये दें तो भी नहीं मानी तब हमने रीवा लोकायुक्त एसपी के पास शिकायत किया और आज ट्रैप हो गईं।

वहीं एसपी लोकायुक्त रीवा गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि उमरिया जिले के करकेली जनपद के ग्राम पंचायत बहेरवाह के सरपंच प्रमोद यादव ने हमारे पास लिखित शिकायत किया था कि सीईओ जनपद पंचायत करकेली प्रेरणा सिंह परमहंस नाडेप के कार्य एसबीएम मद का डेढ़ लाख रुपए निकालने के लिए 10 हजार रुपये की मांग कर रही हैं तो उसका सत्यापन करवाया गया और सच पाये जाने पर आज डीएसपी प्रवीण सिंह परिहार के नेतृत्व में 15 सदस्यीय टीम भेज कर ट्रैप कार्रवाई की गई है।

वहीं टीम के साथ कार्रवाई कर रहीं उप निरीक्षक लोकायुक्त आकांक्षा पांडेय बताई कि हमारे एसपी साहब के पास लिखित शिकायत आई थी जिस पर हम लोगों को भेजा गया है और हम लोग कार्रवाई कर रहे हैं। ग्राम पंचायत बहेरवाह के सरपंच प्रमोद यादव से सीईओ प्रेरणा सिंह परमहंस ने 10 हजार रुपए की मांग की थी जिस पर उनके पति कौशलेन्द्र सिंह ने 10 हजार रुपये लिया और उनके जेब से रुपये मिले हैं, दोनो के ऊपर कार्रवाई की जा रही है।

गौरतलब है कि शासकीय सेवकों की पैसे की हवस इतनी बढ़ गई है कि बिना पैसे के कोई कार्य करना ही नही चाहते हैं जबकि शासन के द्वारा इनको अच्छी खासी तनख्वाह दी जाती है उसके बाद भी इनका पेट नही भरता है। जिसका परिणाम यही होता है। यदि हर व्यक्ति यह ठान ले कि हम रिश्वत नही देंगे तो इनके जैसे भ्रष्ट अधिकारियों, कर्मचारियों को जनता का काम करना पड़ेगा। हालांकि करकेली जनपद पंचायत की यह कोई पहली सीईओ नही हैं जो ट्रैप हुई हैं, इनसे पहले भी कई सीईओ ट्रैप हो चुके हैं, उसके बाद भी सीईओ सबक नही ले रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here