Home अवैध उत्खनन परिवहन रेंजर के ऊपर जेसीबी मशीन चढ़ाने का प्रयास

रेंजर के ऊपर जेसीबी मशीन चढ़ाने का प्रयास

585
0

अवैध उत्खनन कर रहे जेसीबी को रोकने पर रेंजर के ऊपर चढ़ाने का प्रयास। जेसीबी चालक न्यूटल छोड़ कर भागा, जेसीबी लुढ़क कर बोलेरो से टकराई मौके पर वन विभाग और पुलिस की टीम पहुंची।

उमरिया – जिले में रेंजर की गाड़ी को मिट्टी का अवैध उत्खनन कर रहे जेसीबी चालक ने कुचलने का प्रयास किया। चंदिया रेंजर को सूचना मिली कि चंदिया रेंज में कुछ लोग अवैध उत्खनन कर रहे हैं। अवैध उत्खनन की सूचना पर चंदिया रेंजर अपने साथ गाड़ी में एक डिप्टी रेंजर और दो फारेस्टगार्ड को लेकर अवैध उत्खनन रोकने चले गए। मौके पर पहुंचने के बाद पता चला कि अवैध उत्खनन वाली जगह चंदिया रेंज से लगे वन विकास निगम के संभावित कक्ष क्रमांक पी 36 ग्राम बरही के नजदीक है। मौके पर पहुंचते ही जेसीबी चालक ने अधिकारियों को देखते ही भागने का प्रयास किया और वन विभाग की टीम उसको पकड़ने के लिए जेसीबी का लगातार पीछा करती रही। इसी बीच जेसीबी चालक ने परिक्षेत्र अधिकारी रवि पांडे की गाड़ी को कुचलने का प्रयास किया। परिक्षेत्र अधिकारी का शासकीय वाहन क्षतिग्रस्त हो गया और मौका मिलते ही जेसीबी चालक फरार हो गया।


जेसीबी चालक ने कौड़िया ग्राम के तिराहे में शासकीय वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया वाहन में बैठे रेंजर और उनका स्टाफ बाल बाल बच गए और बड़ी मुश्किल से गाड़ी से बाहर निकले।


चंदिया रेंजर रवि पांडे ने बताया कि मैं वन भ्रमण में था तभी बीटगार्ड के माध्यम से सूचना मिली कि एक जेसीबी मशीन जंगल मे मिट्टी खोद रही है तो हम और हमारी टीम वहां पहुँचेबतो हमने पाया कि भारी मात्रा में अवैध उत्खनन है। जंगल वन विकास निगम का निकला। हमने वन विकास निगम को सूचना दिया और तलाश करने लगे तो हमको जेसीबी के साक्ष्य मिले और मौके से जेसीबी भागती हुई मिली। जेसीबी का पीछा किया उसको रोकने का प्रयास किया जेसीबी नही रुकी पूरे कौड़िया ग्राम में घूमता रहा हम कौड़िया तिराहे में रोकने का प्रयास किये तो चालक हमारे ऊपर चढ़ाने का प्रयास किया, मौके से मैं आगे बैठा हुआ था तो मैं पीछे से कूदा तब जाकर जेसीबी रुकी। जेसीबी चालक अपनी मशीन बन्द कर न्यूटल छोड़ कर भाग गया और मशीन लुढ़क कर हमारी गाड़ी में टकरा गई हम लोग अपनी बोलेरो के पीछे का गेट खोल कर किसी तरह निकल कर अपनी जान बचाये। वहीं रेंजर ने बताया कि जेसीबी मशीन बहेरघटा में रहने वाले राजस्थानियों की है और अभी हम मशीन को लाने का प्रयास कर रहे हैं, सुबह पीओआर काटा जाएगा और आगे की कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here