Home राज्य छात्राओं को बरगलाया गया – सुरेन्द्र त्रिपाठी

छात्राओं को बरगलाया गया – सुरेन्द्र त्रिपाठी

548
0

 

उमरिया 08 मार्च – जिले के ताला कस्तूरबा आवासीय कन्या विद्यालय की छात्राओं को स्कूल से अज्ञात व्यक्ति द्वारा बरगला कर लाया गया कलेक्टर के पास, कलेक्टर ने बच्चियों की बात सुन कर बस से भेजा वापस |

उमरिया जिले के मानपुर जनपद अंतर्गत ग्राम ताला के कस्तूरबा गाँधी बालिका छात्रावास की छात्राओं को स्कूल से बरगला कर लाया गया जिले के कलेक्टर के पास, मामले के बारे जब जानकारी ली गई तो पता चला कि अभी तक प्रभारी वार्डन के रूप में नियुक्त श्रीमती गुलाब प्रजापति को वापस अपने मूल पद पर भेज कर सरला सिंह को वहां का प्रभार दे दिया गया है किस पर पूर्व वार्डन श्रीमती गुलाब प्रजापति अपने किसी परिचित के साथ बच्चियों को बरगला कर बस से उमरिया कलेक्टर के पास भेज दी | कक्षा 8 की छात्रा रुपांजलि केवट बताई कि हम लोग अपने से आये हैं हमारे मैडम का ट्रांसफर कर दिया गया है हमको वही मैडम चाहिए नहीं तो सरला सिंह कि जगह दूसरी मैडम भेज दें, वहीँ छात्रा यह भी बताई कि सरला मैडम हमारे समय में नहीं थी जिससे जाहिर हो गया कि बच्चियों को बरगला कर भेजा गया है |

इस बारे में जब डी पी सी सुशील मिश्रा से बात किया गया तो उनका कहना है कि राज्य शिक्षा केंद्र के नियमानुसार किसी भी शिक्षिका को 3 वर्ष के लिए वित्तीय प्रभार दिया जा सकता है लेकिन 3 वर्ष के बाद दूसरे को प्रभार देना होगा उसी नियम के अनुसार कलेक्टर साहब के आदेश के अनुसार श्रीमती गुलाब प्रजापति को हटा कर सरला सिंह को वहां का प्रभार दे दिया गया है और बच्चियों को जो दीगर व्यक्ति स्कूल से लेकर आया था उसके विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करवा दिया गया है अब बच्चियों को नाश्ता करवा कर बस से वापस भेजा जा रहा है |

गौरतलब है कि पुलिस चौकी ताला में वार्डन प्रेम लता रजक द्वारा रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है जिसमें पता चला कि छात्रावास में ही रेमेडियल टीचर के रूप में सेवा देने वाली श्रीमती गुलाब प्रजापति की चहेती सीमा साहू और उनका भाई प्रकाश प्रजापति अनाधिकृत रूप से बच्चियों को उमरिया लेकर गए | अब देखना है कि पुलिस द्वारा क्या कार्यवाई की जाती है ऐसे में तो कोई भी बच्चियों को कहीं भी ले जा सकता है और कोई भी अनहोनी हो सकती है |

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here