Home वाइल्डलाइफ संदिग्ध परिस्थितियों में बाघिन की मौत प्रबंधन ने बताया आपसी संघर्ष

संदिग्ध परिस्थितियों में बाघिन की मौत प्रबंधन ने बताया आपसी संघर्ष

127
0

उमरिया जिले के विश्वविख्यात बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में फिर एक बार 2 वर्षीया बाघिन की मौत हो गई है। मानपुर रेंजर मुकेश अहिरवार ने बताया कि 23 जनवरी की सुबह करीब 4 बजे दूसरे बाघ ने इस बाघिन पर हमला कर दिया जिससे इसकी मौत हो गई। दिन में करीब 9 बजे हमारी गश्ती टीम जब क्षेत्र में गई तो उसको बाघिन का शव मिला। उस टीम ने हमको सूचना दिया। मेरे द्वारा तत्काल उच्च अधिकारियों को सूचना दी गई और उनकी मौजूदगी में बाघिन का पोस्टमार्टम करवा कर अंतिम संस्कार किया गया।


पूरी घटना मानपुर रेंज के केल्हारी बीट के पटपरिहा हार पीएफ 313 बफर जोन की है, गांव के बगल से बने स्कूल के पीछे दोनो की आपसी लड़ाई हुई है। वहां दूसरी बाघिन के पैरों के निशान भी पाए गए हैं, और मृत बाघिन के शरीर मे नाखून और चोट के निशान पाए गए हैं एवं गर्दन की हड्डी टूटी हुई थी। साथ ही यह भी बताए कि हमारे यहां 2 वर्ष से कम उम्र के शावकों की गिनती नही होती उनको गणना में नही रखा जाता है लेकिन इस बाघिन की लंबाई लगभग पूरी हो गई थी।
गौरतलब है कि दिनांक 23 जनवरी को एक तरफ बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के जंगल में अनुभूति कार्यक्रम चल रहा था, जहां क्षेत्र के बच्चों को वन्य जीवों और वन के बारे में बताया जा रहा था और दूसरी तरफ प्रबंधन चुपचाप बाघिन का अंतिम संस्कार कर रहा था। हालांकि प्रबंधन पूरा मामला दबा कर रखा था, प्रबंधन द्वारा कोई जानकारी नही दी गई थी, सूत्रों से पता लगने पर मानपुर रेंजर द्वारा जानकारी दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here