Home वाइल्डलाइफ ट्रेन के ठोकर से एक वर्षीय तेंदुए की मौत

ट्रेन के ठोकर से एक वर्षीय तेंदुए की मौत

172
0

उमरिया – जिले गुजरने वाली रेल लाइन के कटनी बिलासपुर खंड के पाली (बीरसिंहपुर) और घुनघुटी रेलवे स्टेशन के बीच मोर्चा फाटक के पास तेंदुआ रेल्वे ट्रैक पर मृत अवस्था में मिलने की सूचना मिलते ही वन विभाग में अफरा तफरी का माहौल हो गया। मालगाड़ी के ड्राइवर ने घटना की सूचना स्टेशन मास्टर को दी। इसके बाद वन विभाग के अधिकारियों ने तेंदुए के शव को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई शुरू किये।
वन विभाग पाली के एसडीओ दिगेन्द्र सिंह ने बताया की मालगाड़ी से सुबह 4.30 से 5 बजे के बीच घटना हुई है आगे की कार्यवाही की जा रही है।

पाली रेलवे स्टेशन के नजदीक मोर्चा फाटक के पास बुधवार तडक़े पांच बजे मालगाड़ी के ड्राइवर ने एक तेंदुए को मृत अवस्था में देखा। उन्होंने ट्रेन रोककर घटना की जानकारी आरपीएफ, स्टेशन मास्टर और इंजीनियरिंग विंग को दिया। बताया जा रहा है कि सुबह चार से पांच बजे के बीच रेलवे ट्रैक पर ट्रेन की ठोकर से तेंदुए की मौत हुई होगी। इस घटना में वन विभाग ने मृत तेंदुए के शव को कब्जे में लिया। इसके बाद मालगाड़ी को रवाना किया गया।
गौरतलब है कि उमरिया जिला समेत बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व से लगे जिलों में तेंदुआ समय-समय पर दिखते रहते हैं। पाली और घुनघुटी रेल्वे स्टेशन के बीच मोर्चा फाटक के पास तेंदुआ मृत अवस्था में ट्रैक पर मिलने की घटना सामने आई है। वन विभाग ट्रेन की टक्कर से मौत की आशंका जता रहा है, मालगाड़ी के ड्राइवर ने ट्रैक पर तेंदुआ देखकर स्टेशन मास्टर को जानकारी दिया।
वहीं पाली एसडीओ वन दिगेन्द्र सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि तेंदुए की उम्र 1 वर्ष की रही और घटना घुनघुटी रेंज के बिजौरा बीट के कक्ष क्रमांक आरएफ 319 की है, तेंदुए का पोस्टमार्टम करवा कर शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है।
खास बात यह है कि जंगल के बीच से रेल्वे ट्रैक और राष्ट्रीय राजमार्ग भी गुजरी हुई है जिसके चलते घटनाएं होती रहती हैं और वन्य जीवों की मौत होती रहती है। वहीं जब राष्ट्रीय राजमार्ग में ऐसी घटना सामने आती है तो वन विभाग तत्काल वाहनों का पता लगा कर उन पर कार्रवाई कर देता है लेकिन जब ट्रेन से ऐसी घटना होती है तो वन विभाग कुछ नही कर पाता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here