Home राजनीति जनजातीय कार्य मंत्री हिसाब दो – गोंडवाना गणतंत्र पार्टी

जनजातीय कार्य मंत्री हिसाब दो – गोंडवाना गणतंत्र पार्टी

2221
0

विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आते ही राजनैतिक पार्टियां और सत्तासीन नेताओं पर लगने वाले आरोप भी तेज होते जा रहे हैं, ऐसा ही एक आरोप गोड़वाना गणतंत्र पार्टी ने भाजपा विधायक और जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह पर लगाया है।

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राधेश्याम ककोडिया की अगुवाई में हजारों कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन करते हुए रैली निकाल कर जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह और भाजपा सरकार पर जम कर हमला बोला और मुर्दाबाद के नारे लगाए साथ ही राष्ट्रपति, राज्यपाल के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा, इस दौरान उन्होंने मानपुर विधानसभा में हुए करोड़ों के घोटाले की जांच की मांग भी की।

उमरिया – जिले की चर्चित विधानसभा मानपुर एक बार फिर सुर्खियों में आई जहां से विधायक और कैबिनेट मंत्री मीना सिंह पर गोड़वाना गणतंत्र पार्टी ने जनजातीय भाईयों का पैसा हजम करने का आरोप लगाया है, पार्टी ने कहा है कि किस प्रकार से बस्ती विकास मद और बाह्य विद्युती करण के नाम करोड़ों का घोटाला किया गया है, पंचायतों में एस्टीमेट के हिसाब से बिजली के खंबे नहीं लगे, सड़कें नहीं बनी, पानी नहीं पहुंचा और सारा पैसा निकल गया‌।

गोड़वाना गणतंत्र पार्टी ने हजारों कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में मानपुर स्थित बस स्टैंड में विशाल आम सभा को संबोधित किया और रैली निकाल कर महामहिम राष्ट्रपति और राज्यपाल के नाम संबोधित एक ज्ञापन मानपुर तहसीलदार को सौंपा जिसमें पार्टी ने जांच कर कार्रवाई की मांग करते हुए एक महीने का अल्टीमेटम दिया है, उन्होंने कहा है कि कार्यवाही नहीं हुई तो जिला मुख्यालय में उग्र प्रदर्शन किया जायेगा।

गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राधेश्याम ककोडिया ने बताया कि मानपुर विधानसभा से विधायक और प्रदेश सरकार में जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह ने हमारे आदिवासी भाइयों के हक में खर्च होने वाले पैसों की जम कर होली खेली हैं और बंदरबांट की हैं। बस्ती विकास योजना के नाम पर 5 वर्ष में मिले हुए 500 करोड़ रुपये का भरपूर दुरुपयोग करते हुए जम कर बंदरबांट की हैं। बाहरी ठेकेदार को बुला कर बिना किसी वैध प्रक्रिया के बाह्य विद्युतीकरण का कार्य उससे करवा ली हैं। 10 से 20 प्रतिशत कार्य किया गया है और पूरा पैसा आहरित करवा लिया गया है। इस पैसे में जम कर कमीशन का लेनदेन किया गया है। इतना ही नही यह भी कहे कि भोपाल के बल्लभ भवन में जानबूझकर कर आग लगवाई गई ताकि हमारे आदिवासी भाइयों के हक़ पर जो डाका डाला गया है उसके सारे रिकार्ड जल कर राख हो जाएं। कांग्रेस और भाजपा दोनो ने ही घोटाले किये हैं जिसमे सबसे अधिक घोटाला भाजपा ने किया है। वहीं बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व क्षेत्र में लगातार बाघ द्वारा जनजातीय भाइयों के मारे जाने पर भी आक्रोशित होते हुए बोले कि यदि किसी बाघ का शिकार हमारा आदिवासी भाई कर दे तो उसके ऊपर 1 करोड़ का जुर्माना और सजा दोनो होती है लेकिन हमारे किसी भाई को बाघ मार दे तो 8 लाख रुपये देकर चुप हो जाते हैं। हमारी मांग है कि बाघ के हमले से मारने वाले को भी एक करोड़ रुपये का हर्जाना दिया जाय। वहीं कहे कि अभी हम आवेदन दे रहे हैं इसके बाद निवेदन करेंगे और नही माने तब दे दनादन होगा जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार की होगी।

वहीं ज्ञापन लेने आये तहसीलदार मानपुर    कन्हैया दास पनिका ने कहा कि गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने ज्ञापन दिया है हम इसको उच्च अधिकारियों को प्रेषित कर देंगे और उनके माध्यम से आगे भेजा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here