Home वाइल्डलाइफ संदिग्ध परिस्थितियों में बाघ की मौत प्रबंधन ने कहा आपसी लड़ाई

संदिग्ध परिस्थितियों में बाघ की मौत प्रबंधन ने कहा आपसी लड़ाई

112
0

उमरिया – जिले के बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व अंतर्गत वन परिक्षेत्र कल्वाह के कक्ष क्रमांक आर एफ़ 255 में गश्ती के दौरान मृत अवस्था मे बाघ का शव मिलने से सनसनी फैल गई। टाइगर रिजर्व के अधिकारियों को सूचना मिलते ही सभी अपने मोबाइल बन्द कर लिए। घटना की जानकारी के बाद वन्य प्राणी चिकित्सक एवम पार्क प्रबंधन मौके पर पहुंचे कर बाघ के शव का पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार कर दिए।
वन परिक्षेत्र कल्लवाह में मिले दो वर्षीय मृत नर बाघ शावक का जबलपुर से आये वन्य प्राणी विशेषज्ञ चिकित्सको के द्वारा पीएम की कार्यवाही की गई है।
कल्लवाह रेंजर राहुल किरार ने बताया कि कल हमको गश्ती दल द्वारा सूचना मिली थी तो हम उच्च अधिकारियों को सूचना देकर तत्काल मौके पर पहुंच कर मौका देखे तो वहां आपसी संघर्ष के निशान मिले और मृत नर बाघ के शरीर पर दूसरे बाघ के केनाइन टीथ के निशान मिले साथ घसीटने के भी निशान वहां मौजूद रहे। आज जबलपुर से डॉक्टरों की टीम आकर पोस्टमार्टम कार्रवाई की और उन्होंने बताया कि पूरे अवयव मौजूद हैं।बताया कि जबलपुर से आये वन्य प्राणी विशेषज्ञ एवम चिकित्सक डॉ निधि राजपूत एवम डॉ हमजा एवम मानपुर के वन्य प्राणी चिकित्सकों द्वारा पीएम की कार्यवाही की गई। प्रथम दृष्टया मौत के कारण आपसी संघर्ष ही प्रतीत होता है।
पूरी घटना कल्लवाह रेंज के चेंचपुर बीट अंतर्गत कक्ष क्रमांक आरएफ 255 उपकापानी तिराहे के पास की है।
एक महीने में जिस तरह अलग अलग परिक्षेत्रों में 4 बाघों की मौत के मामले सामने आए है, वो वन्य प्रेमियों के लिए चिंता का विषय है, वही पार्क अमले पर भी बड़ा सवाल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here