Home लापरवाही Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

124
0

Community Health Center की लापरवाही के चलते डिलीवरी करवाने आई विशेष संरक्षित जनजाति बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की मौत।

Umaria – जिला अस्पताल में एक अजीबो गरीब मामला सामने आया जहां स्वास्थ्य कर्मी किस हद तक लापरवाही बरतते हैं सामने देखने को मिला।
कल देर शाम को जिले के Community Health Center करकेली में भारत सरकार द्वारा विशेष संरक्षित जनजाति बैगा आदिवासी समुदाय की एक महिला प्रसव पीड़ा से कराहती हुई प्रसव करवाने अपने पति के साथ पहुंची और वहां डियूटी पर मौजूद नर्सिंग आफिसर ने Doctor को सूचना न देकर स्वयं एक इंजेक्शन लगा दी और जच्चा बच्चा की मौत हो गई।

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

जिसकी पुष्टी करने के बजाय dead woman को बेहोश बता कर जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया। जबकि वह पहले ही अपने मासूम के साथ दम तोड़ चुकी होती है, ऐसा नहीं है कि यह पहला मामला हो, स्वास्थ्य विभाग और उसके कर्मियों के ऐसे कई मामले हैं लेकिन यह ताजा एक बड़ा उदाहरण है। हालांकि घटना को लेकर आक्रोशित परिजनों ने जमकर हंगामा किया।

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

मामला है उमरिया जिले के Community Health Center करकेली का, जहां कल रात प्रसव पीड़ा के कारण भर्ती हुई विशेष संरक्षित जनजाति बैगा आदिवासी महिला को वहाँ मौजूद स्टाफ द्वारा एक Injection लगाया गया और बस चंद मिनटों में तड़प कर महिला की मौत हो गई। वह कौन सा इंजेक्शन था, जिसके लगते ही स्वस्थ्य हालत में पहुंचे जच्चा बच्चा काल के गाल में समा गये।

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

वहीं मामला अभी थमा नहीं अपनी लापरवाही को छिपाने के लिए dead बैगा आदिवासी महिला शीतल को जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया, जहां मामले ने तूल पकड़ लिया और परिजनों ने हंगामा कर दिया।

हालांकि हंगामे के बाद तहसीलदार व जिला अस्पताल के अन्य डाक्टरों ने मोर्चा संभाला‌।

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

वहीं इस घटना को लेकर dead महिला शीतल बैगा के पति संतोष बैगा ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मैं अपनी पत्नी शीतल बैगा को लेकर अपने गांव घुंसू से करकेली अस्पताल डिलीवरी की जांच करवाने आया था और वहां रानी madam एवं लक्ष्मी madam भीतर ले जाकर injection लगाई और तुरंत मौत हो गई, इसके बाद हम लोग को कहीं कि ये बेहोश है उमरिया भेज रहे हैं कोई कागज भी नही बनाई और उमरिया भेज दीं, हमको पता लग गया था कि हमारी पत्नी शीतल की death हो गई है।

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

तो वहीं जिला अस्पताल में पदस्थ जिम्मेदार civil surgeon डॉक्टर के सी सोनी हंगामा होता देख SDM और Tehsildarको बुला लिया और मृतिका के शव का पोस्टमार्टम करवा कर जांच कर CMHO को रिपोर्ट भेज कर कार्रवाई करने की बात कही है।

Community Health Center की लापरवाही बैगा आदिवासी जच्चा बच्चा की death

गौरतलब है कि यह कोई पहला मामला नही है बहुत से ऐसे मामले हो चुके हैं और हर बार Investigation का आश्वासन देकर आदिवासियों को बहला दिया जाता है, अब इस बार भी देखना होगा क्या कार्रवाई होगी या फिर वही हाल होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here