Home वाइल्डलाइफ 4 वर्षीय पुत्र को बचाने पिता ने लगाई जान की बाजी

4 वर्षीय पुत्र को बचाने पिता ने लगाई जान की बाजी

532
0

उमरिया – बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के बफर जोन अंतर्गत आने वाले ग्राम चचरिया में बिजली गुल होने के कारण के कारण 45 वर्षीय राम प्रसाद सिंह गोंड़ अपने 4 वर्षीय पुत्र रवि शंकर को अपने पास लेकर घर की परछी में सो रहा था तभी रात लगभग 3 बजे तेंदुआ घर मे घुस कर बच्चे को उठा ले गया।

राम प्रसाद सिंह ने बताया कि जैसे ही मेरे को अहसास हुआ कि कोई मेरे पास आया है तो मैं हड़बड़ा कर उठ गया और इतने में बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी तो हम चिल्लाते हुए तेंदुए के पीछे दौड़े और उसी में तेंदुए और तेज भागा लेकिन हम लगातार उसके पीछे दौड़ते रहे तब तक गांव वाले भी दौड़ आये तो तेंदुआ बच्चे को छोड़ कर बाड़ी कूद कर भाग गया। हम लोग देखे तो बच्चा खून से लथपथ था तब उसको लेकर करकेली अस्पताल आये तो वहां से पट्टी करके जिला अस्पताल भेज दिए हैं, यहां इलाज हो रहा है।


वहीं जिला अस्पताल में पदस्थ डियूटी डॉक्टर मुकुल तिवारी ने बताया कि हमारे जिला अस्पताल में तेंदुआ के हमले से घायल 4 वर्षीय बालक गम्भीर हालत में लाया गया है उसका इलाज किया जा रहा है।


गौरतलब है कि अभी तक तो जंगल मे बाघ के हमले से ग्रामीणों की मौत होती रही है लेकिन यह पहला मामला है जब घर मे घुस कर पिता के पास से पुत्र को तेंदुआ उठा कर ले गया है, इस घटना के बाद ग्रामीण दहशत में है। वहीं पिता ने अपने मासूम पुत्र के जान की बाजी लगा कर पुत्र को मौत के मुंह से छुड़ा लाया।
इस मामले में वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उनके मोबाइल नाट रिचेबल आते रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here