Home सड़क दुर्घटना कांग्रेस की मांग को माना सीएम ने

कांग्रेस की मांग को माना सीएम ने

533
0

बस हादसे में हुई मौत पर कांग्रेस ने सीएम से किया था मांग, सीएम ने मृतकों के परिवार को 10 लाख और नौकरी का दिया आश्वासन

उमरिया – जिले के दौरे पर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल लाड़ली बहना योजना के साथ बहुत सारे नए पुराने कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण करने उमरिया जिले के ग्राम भरौला स्थित आदिवासी क्रीड़ा परिसर का लोकार्पण करने आये।


महिला एवं बाल विकास विभाग को 10 हजार महिलाओं को जुटाने का टारगेट दिया गया था जिसमे 10 हजार तो नही पहुंची फिर भी पर्याप्त भीड़ जुटा ली गई थी। उसी सभा मे शामिल होने मानपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत पाली थाने के ग्राम भौंतरा से आने वाली बस क्रमांक ओ आर 05 ए एम 3388 का एन एच 43 घंघरी ओवरब्रिज के ऊपर टायर फूट गया जिससे बस अनियंत्रित होकर बगल से जा रहे बाइक सवारों के ऊपर पलट गई।


जिसमें दब कर साले बहनोई दोनो की मौत हो गई। आसपास के लोग किसी तरह बस को उठा कर दोनो के शरीर को बाहर निकाले। मौके पर पुलिस भी पहुंच कर घायलों और मृतकों को जिला अस्पताल ले गई।

इस घटना की खबर सुनते ही कांग्रेसी तत्काल घटना स्थल पहुंच कर पुलिस और पब्लिक के साथ बस को उठवा कर मृतकों को बाहर निकाले और जिला अस्पताल पहुंच कर घायलों का हाल जाने।
जैसे ही महामहिम राज्यपाल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिला अस्पताल पहुंचे उनसे मृतकों के परिजनों को 10- 10 लाख रुपये और घायलों के लिए 50 – 50 रुपये की मांग किये साथ ही मृतकों के परिवार से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी की मांग किये।

कांग्रेस की मांग पर मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 10 लाख रुपए और गम्भीर घायलों को 50 हजार रुपये एवं सामान्य घायलों को 10 हजार रुपये के साथ पूरा इलाज सरकार की तरफ से कराये जाने की घोषणा भी किये।

आपको बता दें मृतक दिवस कुमार विश्वकर्मा पुत्र दयाराम उम्र 26 वर्ष निवासी ग्राम ओबरा थाना चंदिया 5 बहनों के बीच एकलौता भाई था जो अपने जीजा घनश्याम विश्वकर्मा पुत्र शिवप्रसाद विश्वकर्मा उम 30 वर्ष निवासी ग्राम धौरई थाना पाली के साथ अपनी बाइक से जा रहा था। दोनो को नही पता था कि मुख्यमंत्री की सभा उनके लिए मौत बन कर आई है।


वहीं देव राज सिंह पुत्र दादू राम सिंह उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम बलबई को गम्भीर हालत में जबलपुर रिफर किया गया जिसकी चंदिया पहुंचते ही मौत हो गई, देवराज रोजगार सहायक रहा जो सभी को लेकर सभा स्थल जा रहा था उसको भी नही पता था कि यह उसकी अंतिम डियूटी है।

बस से सभा मे शामिल होने आया नीलेश सिंह पुत्र जगतधारी सिंह 30 वर्ष निवासी ग्राम भौतरा की मौत जिला अस्पताल पहुंचते ही हो गई।
इसके अलावा 20 अन्य महिला/ पुरुष घायल हुए जिसमे कुछ गम्भीर और कुछ सामान्य हैं।
इस घटना के बाद अब लोगों की जुबान पर एक ही बात आ रही है कि मुख्यमंत्री की हर सभा मे कोई न कोई दुर्घटना होती है जिसमे गरीब और निरीह लोगों को असमय ही जान गंवानी पड़ती है।
हालांकि mpbreakingnews.co.in इससे इत्तेफाक नही रखता है। ये दुर्घटनाएं महज एक संयोग और चालकों की लापरवाही हो सकती है लेकिन लोगों की जुबान को कोई रोक नही सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here