Home क्राइम ट्रक के सामने धकेल कर युवक की हत्या- सुरेंद्र त्रिपाठी

ट्रक के सामने धकेल कर युवक की हत्या- सुरेंद्र त्रिपाठी

493
0

उमरिया 31 जुलाई – एन एच 43 पर अनियंत्रित ट्रक के सामने कथित धक्का दे कर एक युवक की हत्या, मृतक के भाई को भी की मारने की कोशिश, भीड़ के दौड़ने पर चालक ट्रक छोड़ कर भागा, पुलिस ट्रक जप्त कर की कार्रवाई|

उमरिया जिला मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर कटनी रोड़ पर स्थित ग्राम लोढा में गाँव के ही एक दबंग युवक ने सीधे-साधे युवक को अनियंत्रित ट्रक के सामने धकेल दिया जिससे ट्रक से कुचल कर युवक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। इतना ही नहीं मृतक के छोटे भाई को भी जान से मारने का प्रयास किया लेकिन लोगों की भीड़ की वजह से मुश्किल से भाई की बची जान।

मृतक राधे श्याम यादव के भाई निलेश ने बताया कि गाँव का ही दबंग अशोक लोनी मेरे भाई से झगड़ा कर रहा था, मेरी माँ आकर बीच बचाव कर दोनों को अलग कर दिया इस बीच मैं भी पीछे–पीछे आया, मैंने देखा मेरे भाई को अशोक लोनी ने सामने से उलटे सईड से आ रहे तेज़ रफ्तार ट्रक के नीचे धकेल दिया, जिससे ट्रक की चपेट में आकर मेरे भाई की घटना स्थल पर ही मौत हो गई, इस वारदात के बाद ट्रक ड्राइवर ट्रक लेकर भागा मैने ट्रक का पीछा कर उस पर लटक गया, मैने ट्रक को रुकवाने की कोशिश की लेकिन ट्रक नहीं रुका उमरिया से आगे घंघरी के पास ट्रक ड्राईवर ने सामने से आ रहे ट्रक से अपने ट्रक को भिडाने की कोशिश की दूसरी ओर ट्रक का खलासी ऊपर से आकर मेरे हाथों मे डंडे बरसाने लगा यह देख कर स्थानीय लोग दौड़े लेकिन ट्रक ड्रइवर और खलासी ट्रक छोड़ कर भाग निकले।

मृतक के दूसरे भाई संजय यादव ने बताया कि हमारा अपने जीजा से झगड़ा टल रहा है वो जेल में बंद है उसी के कारण की हत्या की गई है, दबंग अशोक लोनी मेरे को और मम्मी को घर बुला कर केस वापस लेने की धमकी दी लेकिन हमारे परिवार ने केस वापस लेने से इनकार किया तो भाई की जान लेली। और अब हमारे पूरे परिवार को जान का खतरा है, वो लोग शराब पीकर किसी से भी लड़ने लगते हैं मेरे पिताजी और माँ को भी धमकी दी है कि बयान नहीं बदले तो आगे और भी बुरा होगा। |

प्रभारी टी आई रूप रेखा यादव ने बताया कि बीती रात सूचना आई कि राधे श्याम नामक व्यक्ति की ट्रक से कुचल कर मौत हो गई है, जांच जारी है ट्रक को कब्जे में ले लिया गया है, मर्ग कायम कर अपराध भी दर्ज कर लिया गया है |

गौरतलब है कि यह घटना एक्सीडेंट के साथ ह्त्या का भी है ऐसे में क्या पीड़ित परिवार को उचित न्याय मिल पायेगा या मात्र एक्सीडेंट का मामला कायम कर रफादफा कर दिया जाएगा |

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here