Home देश अंतर्राष्ट्रीय Women’s Day की पूर्व संध्या पर ये कैसा महिला सम्मान

अंतर्राष्ट्रीय Women’s Day की पूर्व संध्या पर ये कैसा महिला सम्मान

104
0

पूरे देश मे अंतर्राष्ट्रीय Women’s Day की पूर्व संध्या पर 7 March को Saree Walkthan का आयोजन किया गया, महिलाओं को नगर में घुमाया गया।

Umaria – जिला मुख्यालय में शासन के निर्देश पर सामुदायिक भवन से कोर्ट तिराहा होते हुए गांधी चौक, जय स्तंभ चौक होकर स्टेडियम में Saree Walkthan का समापन कर वहां मंचीय कार्यक्रम किया गया। गीत, संगीत, नृत्य, रैम्प वॉक आदि कार्यक्रम हुए।

अंतर्राष्ट्रीय Women’s Day की पूर्व संध्या पर ये कैसा महिला सम्मान

होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए शतप्रतिशत Voting के लिए नारी शक्ति को प्रेरित किया गया। चलिये Voting के लिए प्रेरित करना तो ठीक रहा। क्योंकि राष्ट्र निर्माण के लिए मतदान आवश्यक है।

अंतर्राष्ट्रीय Women’s Day की पूर्व संध्या पर ये कैसा महिला सम्मान

अब बड़ा सवाल यह है कि भारतीय नारी को भारतीय परम्परा के अनुसार देवी की संज्ञा दी गई है। देवी कहें, मां कहें, बहन कहें, जननी कहें, आदि शक्ति कहें, सभी कुछ नारी ही हैं और उनको इस तरह बाजार में घुमाना, और मंच पर नचवाना समझ से परे है, क्या यही देश की नारी शक्ति का सम्मान है ?

अंतर्राष्ट्रीय Women’s Day की पूर्व संध्या पर ये कैसा महिला सम्मान

सम्मान के और भी तरीके हो सकते थे, यदि शासन को Woman power को सम्मानित ही करना था तो माताओं, बहनों को बुला कर सम्मानित कर मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जा सकता था, न कि बाजार और सड़कों पर घुमा कर। शासकीय विभागों में सेवारत महिलाओं पर शासन और प्रशासन द्वारा दबाब बना कर उनको सड़कों पर घुमाना नगर में जनचर्चा का विषय बना हुआ है।
देश और प्रदेश की सरकार को यदि इसी तरह
Woman power का सम्मान करना है तो फिर ढिंढोरा पीटने का क्या काम ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here