Home अवैध उत्खनन परिवहन विधायक जी एक नजर इधर भी अपने भाषण का तो मान रखिये

विधायक जी एक नजर इधर भी अपने भाषण का तो मान रखिये

166
0

उमरिया – जिले में रेत माफियाओं के हौसले आसामान की बुलंदियों को छू रहे हैं और खनिज विभाग औपचारिकता निभाने में लगा है। इतना ही नही वन क्षेत्र हो या राजस्व क्षेत्र हो हर जगह से खुले आम रेत निकल रही है। रात होते ही चारो तरफ रेत माफिया ही नजर आते हैं, हर गली, चौराहे, नाके पर रेकी करने वाले खड़े नजर आते हैं।

नदी, नाले सभी जगह का दोहन बुरी तरह से कर लिया गया।
शासन के राजस्व की भरपूर चोरी हो रही है। खनिज और वन विभाग कुम्भकर्णी निद्रा में मस्त है। कभी कदा एक – दो ट्रैक्टर ट्राली पकड़ कर अपनी पीठ थपथपा लेते हैं।


हालांकि रेत माफिया खुले आम कहते हैं कि हमारे आदमी विभाग में हैं, वो हमको पहले ही सूचना दे देते हैं, डर किस बात का है।
इस मामले में जब खनिज निरीक्षक दिवाकर चतुर्वेदी से बात की गई तो उनका कहना है कि आप देख रहे हैं चारो तरफ अधिकारियों पर हमले हो रहे हैं हम कैसे अकेले पकड़ सकते हैं, जो मिल जाता है उस पर कार्रवाई कर देते हैं। अगर देखा जाय तो इनकी भी बात सही है, किसके बलबूते रिस्क ले लें।

दूसरी तरफ सैकड़ों ट्राली अवैध रेत का स्टॉक जगह – जगह नजर आता है जहां दिन में पुलिस और राजस्व अमले के साथ जाकर कार्रवाई की जा सकती है। जब जिले में रेत खदान ही चालू नही हुई है तब ये रेत कहाँ से आ रही है।

इनसे ठीक तो मानपुर विधायक ही हैं जो अपने दो सिपहसालारों को लेकर मिट्टी भरने गए ट्रैक्टर को रेत भरने का समझ कर उठवा कर वन विभाग के कार्यालय में खड़ा कर दीं, यह अलग बात है कि दोनो ट्रैक्टर ट्राली कांग्रेसियों के रहे, यदि उनकी पार्टी के लोगों के होते तो शायद अन्य रेत माफियाओं जैसे कोई कार्रवाई नही करती।

हलांकि जनता मानपुर विधायक के द्वारा 5 – 6 दिसंबर को विजय जुलूस के दौरान दिए गए भाषण को सुन कर खुश है कि चौथी पंचवर्षीय में अब विधायक जी खुद ही रेत माफियाओं के खिलाफ मोर्चा खोल देंगी लेकिन दो माह बीत जाने के बाद मात्र कांग्रेस कार्यकर्ताओं के मिट्टी भरने गए दो ट्रैक्टर ट्राली को पकड़ कर शांत हो गईं, कहीं ऐसा तो नही की बाकी रेत माफिया उन्ही के लोग हों। इसी तरह कहीं विधायक जी के दबाब में खनिज विभाग के अधिकारी भी रेत के बड़े – बड़े ढेर नही देख पा रहे हैं।

जबकि मानपुर के खुटार में निर्माणाधीन सी एम राइज स्कूल और सैकड़ों जगह अवैध रेत का भंडार भरा पड़ा है लेकिन खनिज विभाग के नजर में नही आ रहा है। इसलिए जनता विधायक जी से उम्मीद लगाए बैठी है कि आप ही उन दोनों ट्रैक्टरों जैसे ईमानदारी से अपना – पराया का भेद छोड़ कर बाकी लोगों के भी ट्रैक्टर ट्राली पकड़ कर राजस्व की चोरी रोकिये।

हालांकि विधायक जी से ऐसा करने की उम्मीद बहुत कम है क्योंकि अधिकतर रेत माफिया तो वहीं से जुड़े हैं, उन्ही का नाम लेकर लोगों को धमकी देते हैं, चाहे वह पाली जनपद के हों या मानपुर जनपद के हैं तो उसी विधानसभा क्षेत्र के। खनिज या अन्य विभाग की भी क्या मजाल जो पूर्व मंत्री जी के लोगों की तरफ आंख उठा कर देख लें। अब जो बेचारे पकड़े जाते हैं वो अन्य लोग हैं जो दूसरों को रेत चोरी करता देख कर खुद भी करने लग जाते हैं।

विधायक जी अब तो मामा का राज्य नही है कि चाहे जितने घोटाले कर लें कोई फर्क नही पड़ता अब तो मोहन सरकार है, सुनते हैं यहां तत्काल कार्रवाई होती है, तो विधायक जी अपने विजय जुलूस के दौरान दिए गए वक्तव्य को ध्यान करते हुए पाली और मानपुर के रेत माफ़ियाओ के वाहनो को निष्पक्ष रूप से पकड़िये नही तो उन दोनों विपक्षियों के वाहनों को भी छुड़वा दीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here