Home ख़बरे हटके शासन प्रशासन हुआ फेल जनपद अध्यक्ष पति ने शुरू किया काम

शासन प्रशासन हुआ फेल जनपद अध्यक्ष पति ने शुरू किया काम

747
0

उमरिया – देश आजाद होने से लेकर आज तक शासन और प्रशासन डेढ़ किलोमीटर सड़क बनाने में नाकाम रहा। मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री और विधायक सभी ने आश्वासन दिया लेकिन कोई नही बनवा सके रोड और आदिवासी परेशान होते रहे। जनपद अध्यक्ष पति ने 10 मिनट में समस्या हल कर स्वयं भूमिपूजन किया और अपने से सड़क बनाना शुरू कर दिया।


“कौन कहता है कि आसमां में सुराख नही हो सकता, एक पत्थर तो दिल से उछालो यारो” इस कहावत को चरितार्थ कर दिखाया उमरिया जिले के करकेली जनपद अध्यक्ष पति मून उर्फ विनय सिंह ने। जी हां हम आपको बता रहे हैं जिला मुख्यालय से मात्र 4 किलोमीटर दूर शत प्रतिशत आदिवासियों के गांव सेवई की कहानी।

सन 1947 से लेकर आज तक कोई भी सरकार इस गांव को मुख्य सड़क से नही जोड़ सकी, यहां के बेटे, बेटियां स्कूल नही जा पाते, यहां सड़क न होने कई गर्भवती और धात्री महिलाओं की मौत हो चुकी है, यहां के ग्रामीण मुख्यमंत्री से लेकर कलेक्टर तक गुहार लगा चुके हैं लेकिन कोई हल नही निकल सका, दो बार भूमिपूजन किया गया, ग्रामीणों ने सड़क जाम किया लेकिन मिला तो बस आश्वासन। आज जनपद अध्यक्ष पति मून सिंह उर्फ विनय सिंह ने इन आदिवासियों की समस्या को देख कर स्वयं के व्यय से एवं स्वयं की मशीनों को लगा कर भूमि मालिकों से बात कर उनको मना लिया और कार्य शुरू कर दिए।


ग्राम पंचायत के वार्ड नम्बर 10 की पंच कलसिया बाई बताई कि हम कलेक्टर के यहां रैली लेकर गए, मंत्री विधायक सभी को ज्ञापन दिए कोई नही सुनता है, हमारे बच्चे नही पढ़ पाते हैं, हम लोग डिलीवरी लेकर नही जा पाते हैं। आज मून सिंह और सरपंच काम शुरू कर दिए हैं, अब काम होकर रहेगा, हमको भरोसा हो गया है।


वहीं रामा कोल ने बताया कि हमारी मदद आज तक कोई नही किया है, मंत्री, विधायक कलेक्टर कोई भी मदद नही किये 2014 में भूमिपूजन भी हुआ लेकिन काम नही हुआ आज पटवारी नाप कर बता दिए पुलिस रही और मून सिंह और सरपंच काम शुरू कर दिए हैं अब रोड बन जाएगी भरोसा हो गया है।

वहीं करकेली जनपद अध्यक्ष पति मून सिंह उर्फ विनय सिंह ने बताया कि यहां सांसद, विधायक सभी चुनाव के समय मे आते हैं फीता काट कर झूठा आश्वासन देकर चले जाते हैं। हमसे इनकी समस्या नही देखी गई इसलिए हमने उगेन्द्र सिंह, तरुण सिंह और दीपू सोनी से बात करके यहां काम चालू कर दिया है, उन लोगों ने अपनी जमीन देने को कह दिया है। हमको भगवान ने इतना सक्षम बनाया है हम अपनी मशीन लगा दिए हैं, अपने पैसे से और इन लोगों के सहयोग से रोड बना देंगे और जब चुनाव आएगा तो यहां की जनता जबाब देगी।


इतना ही नही इस अच्छे कार्य की जानकारी मिलते ही इस क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य और कांग्रेस नेता ओमकार सिंह बबलू भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने बताया कि मैं क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य हूँ, और ग्राम सेवई की जनता ने मेरे को अधिक से अधिक वोट देकर जिताया है, आज उन्होंने मेरे को याद किया इसलिए मैं भरी दोपहरी में गर्मी में चला आया और मेरे से जितना अधिक से अधिक सहयोग हो सकेगा मैं इनके लिए करने को तैयार हूं इतना ही नहीं मेरे पास कुछ मशीनरी हैं मैं उन मशीनों को निशुल्क रूप से लगा करके और कम से कम समय में इनको रोड बना कर दूंगा साथ ही आने वाले समय मे अगर ये लोग कांग्रेस पार्टी को सहयोग देंगे तो मैं कांग्रेस की तरफ से और कमलनाथ जी की तरफ से विश्वास दिलाता हूं कि इनके लिए जितना अच्छा हो सकेगा उतना अच्छा रोड बनवाऊंगा।


जब कुछ कर गुजरने की दृढ़ इच्छा हो तो पत्थर से भी पानी निकाला जा सकता है, आज इसी दृढ़ इच्छाशक्ति के बलबूते पर जनपद अध्यक्ष पति और जिला पंचायत सदस्य अपनी पूंजी और अपनी मशीनों को लगा कर सरपंच को साथ लेकर ग्राम सेवई के आदिवासियों के लिए दृढ़ संकल्पित होकर किसी की परवाह न कर अपने से जमीन मालिको की सहमति लेकर सड़क निर्माण कार्य शुरू कर दिए और अब पूरा करके ही दम लेंगे।


वहीं दूसरी तरफ आदिवासियों के मसीहा, प्रदेश के मुखिया, अजाक मंत्री मीना सिंह, विधायक शिव नारायण सिंह के साथ शासन एवं प्रशासन के लिए शर्म की बात है कि जो कार्य 76 वर्षों में कोई नही कर पाया उसको ये लोग करना शुरू कर दिए और पूरा करने का संकल्प ले लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here