Home क्राइम 50 लाख की ठगी के आरोपी फरार ईनाम दस हजार

50 लाख की ठगी के आरोपी फरार ईनाम दस हजार

556
0

उमरिया – जिले के नौरोजाबाद थाना क्षेत्र अंतर्गत शिव मानस वार्ड न. 11, उन कालोनी
एन एच 34 निवासी रवती तिवारी पत्नी शिव मोहन तिवारी बताई कि मेरा और मेरी बड़ी बहू पुष्पा तिवारी के बीच में हमेशा किसी
किसी बात पर कुछ न कुछ विवाद होता रहता था। एक दिन विवाद कुछ ज्यादा ही बढ़ने के कारण हम दोनों के बीच अमर्यादित विवाद हो गया। जिसके कारण मैं अपने घर के बाहर बने चबूतरे में बैठ गई माह उसी वक्त जुबैदा खान पति समशाद खान मेरे घर के सामने से निकल रहे थे. मुझे रोते देख यह मेरे पास आकर बैठ गई और पूछने लगी कि आटी आप क्यू रो रही हो। पहले आप अंदर चलो और इत्मीनान से आप मुझे पूरी बात बताओ मैंने अपना और और अपनी बड़ी बहु का विवाद जुबैदा खान को बता दिया जुबैदा खान ने मुझसे कहा आटी आपके घर में कुछ शैतान का साया है में समशाद को बुलाती हूँ वो थोड़ा-बहुत इन सब चीजों को जानते है। लगभग 15 से 20 मिनट बाद समशाद खान पिता खुदाबक्स निवासी वार्ड नं 11 मेरे घर आया और कहने लगा कि आंटी आपके घर में बाकई बहुत बड़े शैतान का बास है। इस शैतान को मेरा साला निवासी स्टेशन जिला कटनी (०) में निवास करता है यह एक तात्रिक है और कई तात्रिकों के संपर्क में है, जुबेदा बोली आटी मैं अपने भाई को 2 से 3 दिन के अदर बुलाती हूँ वो यहां आकर सब ठीक कर देगा 3 दिन के बाद जुबेदा और समशाद मेरे घर आए और बोलने लगे कि रज्जाक खान उर्फ कल्लू नौरोजाबाद आ गया है। आप हमारे पर मिलोगी या उसे हम आपके घर बुलाये तो समशाद खान ने कहा कि शैतान और परेशानिया तो आटी के घर पर है, इसीलिए रज्जाक खान उर्फ कल्लू को आंटी के घर पर ही बुला लेते है रज्जाक खान उर्फ कल्लू और उसका एक साथी मेरे घर पर आए तथा नारियल कुछ फूल मेरे दरवाजे के चौखट पर रखकर 5 मिनट तक कुछ करते रहे उसके बाद रज्जाक खान उर्फ कल्लू मेरे से बोला कि आंटी आपके यहां पर सब ठीक हो जायेगा और मेरा मोबाईल नम्बर लेकर ये चारों मेरे घर से चले गए। उसी दिन रात में रज्जाक खान उर्फ कल्लू मेरे मोबाईल नं. 9109711246 पर फोन करके बोला कि आंटी आप क्या चाहती है, मैं बोली बेटा मेरे घर से पूरे तरीके से क्लेश हटवा दो ताकि मेरे घर पर शांति हो जाए तो रज्जाक खान उर्फ कल्लू बोला ठीक है आटी यह ऐसा तांत्रिक है, जो कुछ तंत्र करेगा तो हो सकता है कि आपकी बहू को भारी नुकसान हो जाए। फिर मुझसे पैसों की डिमाण्ड करने लगा, मैं बोली कि बेटा मेरे पास पैसे बिल्कुल नहीं है, तुम करो जो भी होगा मैं दे दूंगी वो बोला नहीं आंटी मुझे पैसे चाहिए नहीं तो मैं आपकी बहु को सब बता दूंगा, और आपके घर को बर्बाद करके रख दूंगा, आपके लड़के पोते को जान से मार दूंगा, मैं बोली ऐसा कोई काम मत करना मेरे पास अभी जेवर है बताओ किसको दे दूं, कहा कि जाकर मेरी बहन जुवेदा खान को जो भी जेवर दे दो। मैं जुवेदा खान के घर गई और बोली कि तुम्हारा भाई रज्जाक खान उर्फ कल्लू बहुत धमकी दे रहा है। लड़के नाती को जान से मारने की धमकी देता है, तब जुवेदा खान बोली कि धमकी क्यूं नही देगा जब आपको यह सब नही करना था तो मेरे भाई को क्यों बुलाई थीं। तब मै बोली कि यह जेवर दे रही हूँ, जब मैं पैसा दूंगी तो मेरा जेवर मुझे वापस दे देना। जेवर देने के बाद उसी शाम को फिर से रज्जाक खान उर्फ कल्लू का फोन आया और दोबारा भी धमकी देने लगा कि आप कही से भी पैसों की व्यवस्था कराओ मुझे सामान खरीदना है, और उस तांत्रिक को पैसा देना है, मैं गुस्से ये फोन काट दी।

फिर भी वह पूरी रात फोन कर रहा था, तथा दूसरे दिन वह अपने दोस्त के साथ मेरे घर पर आ गया और घर में खड़े होकर धमकी देने लगा कि अपनी बहु को बुलाओ में सब बतला देता हूँ उस वक्त मैं और मेरा पोता राघव घर पर थे, मैं उससे हाथ जोड़कर विनती की कि तू मेरे घर से चला जा तेरे को पैसा चाहिए में दूंगी पर हंगामा मत कर आए दिन फोन पर फोन करके धमकी देता रहता दिनांक 20/10/2022 को 38,000/- रूपये अपने पोते राघव के हाथ से 9770723181 इस नम्बर पर 38,000/- रूपयों को फोन पे के माध्यम से डलवाया। फिर रज्जाक खान उर्फ कल्लू खॉन का मेरे पास फोन आया बोला पैसा डला नहीं है अभी तक में बोली कि आज ही 38 हजार रुपये तुम्हारे खाते में फोन पे करवा दी हूँ। वह बोला तुम्हारा पोता झूठ बोल रहा है. पूरा पैसा वो खा गया है। फिर बोला अपने पोते से बात कराओ और उसने मेरे पति के नम्बर में फोन में संचालित करवा दिया. फिर लगातार धमकी देता रहा और पैसे मेरे से कभी नगद तो कभी किसी और के फोन पे पर करवाता रहा। करीब 8 से 10 लाखा रूपये जुबैदा खान एवं उसका पति समशाद खॉन को रज्जाक खान उर्फ कल्लू के कहने पर दिये है। मैं तंगाकर अपना फोन पटक दी थी. जिसके कारण मेरा नम्बर बंद हो गया था, उसके बाद से वह जुबेदा खॉन को फोन करता था कि जाओ और मेरी आंटी से बात कराओ में ऐसी स्थिति में आ गई थी कि ना मैं अपने घर परबता पा रही थी और ना ही मैं थाने जा पा रही थी। जिन-जिन नंबरों पर वह पैसा डालने के लिए कहता था मैं इन लोगों के झांसे में ऐसा फंस गई थी जब जब इन्होने ने पैसों के लिए कहा में पैसा देती चली गई, और अब तक मेरे से इन्होंने 48 से 50 लाख तक पैसा इनके एकाउंट में मेरे द्वारा दिया जा चुका है।

इस मामले में 24 मार्च को जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिपाल सिंह महोबिया को पीड़िता ने लिखित आवेदन दिया जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हमारे पास आवेदन आया है हमने नौरोजाबाद थाने को निर्देशित कर दिया है तत्काल प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई करे।


अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर 25 मार्च को अपराध क्रमांक 105/23 धारा 420, 120बी, 34 आईपीसी का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई।
जांच अधिकारी रसिया साकेत ने बताया कि आरोपियों की तलाश की जा रही और सभी आरोपी फरार हैं, उनको हर सम्भव जगह पर तलाशा जा रहा है।
आरोपियों को फरार देख कर जिले के एस पी प्रमोद कुमार सिन्हा ने शमशाद खान पिता खुदाबख्श नियाजी, जुबैदा बेगम पिता शमशाद नियाजी दोनो निवासी 5 नम्बर कालोनी नौरोजाबाद एवं रज्जाक खान पिता इसहाक खान निवासी ग्राम बड़वारा थाना बड़वारा जिला कटनी की सूचना देने या गिरफ्तार करवाने वाले को 10 हजार रुपए नगद ईनाम की घोषणा किये हैं।
गौरतलब है कि जिले में ऐसे कई ठग अपना कार्य संचालित किए हैं जिनके डर से पीड़ित थाने तक नही आ पाते हैं और पुलिस को सूचना नही मिल पाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here