Home क्राइम रेत माफियाओं की दबंगई ग्रामीण परेशान –

रेत माफियाओं की दबंगई ग्रामीण परेशान –

509
0

उमरिया 31 मई – जिले में नहीं थम रहा है अवैध उत्खनन और परिवहन का सिलसिला, रेत माफियाओं की दबंगई के सामने प्रशासन भी हुआ नतमस्तक, ग्रामीणों का जीना हुआ दूभर, बार – बार जिला प्रशासन को दे रहे हैं आवेदन, अब तो परिवार सहित आत्मदाह की चेतावनी दे रहे हैं ग्रामीण, रेत माफिया खुले आम चला रहे हैं गोलियां | अरबों रुपये के राजस्व का चूना सरकार को लगा चुके हैं रेत माफिया | आदिवासियों के नाम पर भंडारण की अनिमती लेकर बाहुबली कर रहे हैं काम | जिले के कलेक्टर कहे कि हम टीम बना कर जांच करवा कर निरस्त कर देंगे रेत भण्डारण की अनुज्ञा | बड़ी – बड़ी मशीनों से हो रहा है अवैध उत्खनन |

उमरिया जिले के ग्राम मुडगुडी, सलैया, सुखदास, पडवार, बल्हौंड, बड़ेरी, खैरभार, करहिया, एवं चंदिया क्षेत्र में जोरों पर रेत माफियाओं की गुंडागर्दी चल रही है, अभी कुछ दिन पहले जिले के कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी सभी भण्डारण को सीज करवा दिए थे लेकिन उसके बाद भी वन एवं राजस्व भूमि से खुले आम रेत का अवैध उत्खनन होता रहा है, खनिज विभाग जिले के कलेक्टर को रेत माफियाओं से सांठ-गाँठ कर गलत जानकारी दे रहा है, एन जी टी के निर्देशों का नहीं हो रहा है पालन, भारी भरकम मशीनों से नदियों का सीना चीरा जा रहा है | 25 से 30 फुट गहरे गड्ढे नदियों में कर दिए गए जिसमें आदमी और जानवर गिर कर मर रहे हैं | ग्रामीण लगातार जिले के कलेक्टर और खनिज अधिकारी को ज्ञापन दे रहे हैं और रेत माफिया उतने ही जोरों पर बन्दूक के बल पर अवैध उत्खनन और परिवहन कर रहे हैं | अरबों रुपये की राजस्व की चोरी हो चुकी है लेकिन खनिज विभाग कोई कार्यवाई करने को तैयार नहीं है | ग्राम मुडगुडी में सरपंच इन्द्रभान तिवारी और अन्नू सिंह आदिवासियों के नाम पर भंडारण की अनुमति लेकर गुंडागर्दी के दम पर अवैध उत्खनन कर रहे हैं वहीँ ग्राम सलैया में रावेन्द्र पाण्डेय और ग्राम सुखदास में उदित नारायण के गुंडे गोली चला रहे हैं | खास बात तो यह है कि जब ग्रामीण किसी अधिकारी को सूचना देते हैं तो अधिकारी उन्ही को दोषी मानते हुए धमकी देते हैं | ग्राम सलैया निवासी लवकेश पाल अब परिवार सहित आत्मदाह करने को तैयार है वहीँ ग्राम मुडगुडी निवासी राम लाल बर्मन, ग्राम सुखदास निवासी कृष्ण कुमार तिवारी, जिला प्रशासन से जान बचने का निवेदन कर रहे हैं, |

इतना ही नही ग्राम मुड़गुडी निवासी उदयभान द्विवेदी जिले के कलेक्टर और खनिज विभाग को माह अप्रैल में भी आवेदन दे गए थे लेकिन कोई कार्यवाई नहीं होने पर परेशान होकर फिर से स्मरण पत्र देकर बताये कि आदिवासियों के नाम पर बाहुबली लोग अवैध उत्खनन एवं परिवहन कर रहे हैं जिसके चलते पूरे गाँव की सड़क खराब हो गई है और नदियों में गहरे गड्ढे हो गए हैं मना करने पर धमकी देते हैं |

इस मामले में जब जिले के कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी से बात किया गया तो उनका कहना है कि पिछली बार जब शिकायते हुई थी तो हमने कार्यवाई करके सभी पंचायतों में बंद कर दिया था और जुर्माना भी लगाया था लेकिन जिले में रेत की कमी होने के कारण फिर खोलना पडा था अब शिकायतें प्राप्त हो रही हैं तो फिर से टीम बना कर भेजूंगा और अगर यही हाल रहेगा तो खदानों को पूर्ण रूप से बंद कर प्रतिबंधित कर देंगे और दुबारा चालू नहीं करेंगे |

गौरतलब है कि उमरिया जैसे शांतिप्रिय जिले को रेत माफिया भिंड मुरैना की तर्ज पर अवैध उत्खनन करके ग्रामीणों को बन्दूक और लाठी के दम पर आतंकित करने का काम कर रहे हैं यदि इस पर समय रहते कठोर कार्यवाई नहीं हुई तो वो दिन दूर नहीं जब खुले आम ह्त्या जैसे जघन्य अपराध होने शुरू हो जायेंगे, पुलिस भी ओवर लोड का चलन बना कर अपने कर्तव्यों की इति श्री कर लेती है और वन विभाग तो रेत माफियाओं की तरफ देखता ही नही है जबकि रिजर्व वन से भी खुले आम अवैध उत्खनन होता है |

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here