Home प्रदेश किसानों के कर्ज़ होंगे माफ लाड़ली बहनों को मिलेंगे हर माह डेढ़...

किसानों के कर्ज़ होंगे माफ लाड़ली बहनों को मिलेंगे हर माह डेढ़ हजार

620
0

उमरिया – जिले के बिरसिंहपुर पाली में इंटक कार्यालय में हुई बैठक में कांग्रेस के सत्ता में वापसी होने पर किसानों का क़र्ज़ माफ करने की हमारी घोषणा को पूरी करने के लिए हमारा संकल्प पूरा किया जायेगा, साथ ही मध्यप्रदेश की लाडली बहनों को मिलने वाली एक हजार रूपए में वृद्धि कर 1500 रूपए की हमारी योजना है। उक्ताशय के भाव पूर्ण उद्गार कांग्रेस के महामंत्री एवं उमरिया जिला प्रभारी संगठन मंत्री जगदीश सैनी ने इंटक कार्यालय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और इंटक नेताओं के बीच कहीं।

बैठक

आपने कहा कि प्रदेश की जनता से हम पिछले चुनाव में भी किसानों के कर्ज़ माफी का वादा किया था, और जनता ने विश्वास के साथ हमें सत्ता की चाबी सौंपी थी, हमारी सरकार ने इस ओर काम करते हुए कर्ज माफ भी किया, लेकिन कृषक हितेषी यह योजना भाजपा को राश नहीं आयी और उन्होंने खरीद फरोख्त के दम पर हमारी सरकार को गिरा दिया, जिससे हमारी घोषणा पूर्णतः फलीभूत नहीं हो सकी, हम आज भी अपने घोषणा पर अडिग है और जब एक बार फिर चुनाव की घड़ी आ रहीं हैं, तो इस घोषणा को दोहराते हुए अपने संकल्प को लेकर जनता के बीच जायेंगे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उमरिया जिले के संगठन मंत्री व नेता संजीव खण्डेलवाल ने संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा के शासनकाल में मंहगाई में बेतहाशा वृद्धि होने से जनता का बजट गड़बड़ा गया है , कांग्रेस के शासनकाल में जिस तरह 500 रूपये रसोई गैस मिलती रही है हम घोषणा करते हैं कि हमारी सरकार आयी तो एकबार फिर से पुराने दर में रसोई गैस देंगे।‌ आपने अपने वक्तव्य में यह भी कहा कि कांग्रेस पार्टी की सरकार आने पर मध्यप्रदेश की बहनों को 1500 रूपये प्रति माह देने का वचन देते हैं।‌वर्तमान में भाजपा सरकार द्वारा जनता को मिलने वाली रियायतों पर कैंची चलाई जा रही है, जिससे देश में गरीब और अमीर का अंतर तेजी से बढ़ रहा है, हमारी सरकार की वापसी पर इस अंतर को कम किया जायेगा ।‌

सभा में नेता गण


इंटक नेता के के मिश्रा ने अपने उदबोधन में कहा कि वर्तमान में भाजपा सरकार कोल इंडिया को बेचने पर उतारू हैं, आज कोल माइंस में भर्ती पर पूर्णतः रोक लगी हुई है, आज कोल माइंस बेची जा रही है, सारे काम में ठेकेदारी प्रथा को बढ़ावा दिया जा रहा है ।‌काग्रेस की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने इसका राष्ट्रीयकरण कर मजदूरों को मालिकाना हक दिया गया था लेकिन आज फिर से ठेकेदारों के चंगुल मे कोयला उद्योग फंस कर रह गया है। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन इंटक नेता प्रीतम पाठक ने किया ।
सर्वप्रथम कार्यक्रम के शुभारंभ में कार्यक्रम में उपस्थित नेताओं को का शाल श्रीफल से स्वागत किया गया। इस अवसर पर इंटक के पूर्व अध्यक्ष विजय सिंह, अमर बहादुर सिंह, प्रमोद उपाध्याय, राजेंद्र सिंह, अमरनाथ पांडे, पीतांबर नाहक, राजेंद्र नाथ तिवारी, दिलीप सोनी, गोपाल सिंह, राम कुंवर प्रजापति, दीपक बिलथरिया, राजेश शुक्ला, अब्दुल सलाम रिजवी, शिव कुमार दहिया, रमेश दहिया, ददुल्ला केवट, महेंद्र सूर्यवंशी, अवधेश तिवारी, सुशील तिवारी, आरसी प्रसाद करण, मुबीन खान, मनोज गुप्ता, अशोक त्रिपाठी, सुनील साहू, मोती कुशवाहा, सुदर्शन पटेल, दिलशाद खान, मनतुल्ला खान, बबलू विश्वकर्मा, धनीराम, घासीराम, छोटेलाल, प्रभात मिश्रा, देवेंद्र प्रधान एवं सैकड़ों इंटक के कार्यकर्ताओ के साथ ग्राम पंचायत गोरईया के सरपंच संतोष मानिकपुरी उपसरपंच सचिन सिंह की उपस्थिति सराहनीय रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here