Home प्रदेश ब्रांड एंबेसडर का कृषि विभाग ने किया अपमान विधायक नाराज

ब्रांड एंबेसडर का कृषि विभाग ने किया अपमान विधायक नाराज

106
0

महिलाओं को सम्मान और सुरक्षा देने की गारंटी सरकार ने दी है और सभी को निर्देशित भी किया है कि नारी सम्मान में कोई कोर कसर नहीं छोड़े, लेकिन कृषि विभाग के एक कार्यक्रम में ब्रांड एम्बेसडर महिला को बेइज्जती महसूस हुई, लेकिन अपनी परंपरा का पालन करते हुए आदिवासी महिला खुद अपना स्टाल लगाने लगीं, इस दौरान जिले भर के अधिकारी और भाजपाई मौजूद रहे। वहीं यह भी देखने को मिला कि लहरी बाई को अपनी कुर्सी के लिए भी जद्दोजहद करनी पड़ी।

मामला है उमरिया जिला मुख्यालय स्थित आयोजित जिला स्तरीय श्री अन्य मिलेट किसान मेला का, जहां किसानों को नई नई तकनीक से जोड़कर उनको समृद्ध बनाने की बातें की जा रही थी वहीं दूसरी ओर मिलेट पुरुस्कार से सम्मानित सुश्री लहरी बाई अपने स्टाल को स्वयं लगा रहीं थीं, इस दौरान जिले के कृषि विभाग के जिम्मेदार हाथ बांधे खड़े रहे। इस वाकिये को मीडिया ने अपने कैमरे में कैद कर लिया।

जब इस मामले में लहरी बाई से बात की गई तो वो सहज भाव से अपनी भाषा में इस विरोध को जताते हुए बताई कि हमारे साथ ऐसा कहीं नही हुआ है, हम जहां भी गए या बुलाया गया तो हमको बहुत सम्मान मिला है, यहां तो कृषि विभाग वाले बुला लिए बस।

जबकि क्षेत्रीय विधायक शिवनारायण सिंह ने लहरी बाई के साथ हुए इस अपमान पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा कि ये हमारी ब्रांड एम्बेसडर हैं और इनको बुला कर जो अपमान किया गया है वह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, कृषि विभाग और जिला प्रशासन यह गलती सुधार ले नही तो इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।
बता दें कि डिंडोरी जिले के रहने वाली लहरी बाई को विलुप्त हो चुकी फसलों के बीजों को संजोने का काम किया है, जिसके लिए उन्हें मिलेट पुरुस्कार से सम्मानित किया गया है।


हालांकि जब से उप संचालक कृषि के पद पर खेलावन डेहरिया पदस्थ हुए हैं तब से इनके द्वारा इसी तरह का रवैया अपनाया जा रहा है और लगातार इनकी शिकायत भी लोग कर रहे हैं फिर भी ऊपर बैठे लोग खुला संरक्षण दे रहे हैं। ऐसे में प्रदेश के मुखिया को ही संज्ञान में लेकर कार्रवाई करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here