Home वाइल्डलाइफ 10 लोगों ने मिल कर जंगल में चीतल का किया शिकार बंदूक...

10 लोगों ने मिल कर जंगल में चीतल का किया शिकार बंदूक भी हुई जप्त

107
0

वनमंडल उमरिया के वन परिक्षेत्र घुनघुटी में शिकारियों ने गोली मारकर चीतल का शिकार किया है। जानकारी लगते वन विभाग की टीम मौके पर पहुंच कर जांच में जुट गई है। घुनघुटी परिक्षेत्र के कक्ष क्रमांक पी एफ 225 मे शिकारियों ने जंगल में चीतल को गोली मारकर शिकार किया और उसके बाद उसके टुकड़े-टुकड़े कर पकाने में लगे रहे। तभी घुनघुटी रेंजर को अवैध शिकार की जानकारी मिली और पूरी की पूरी टीम जांच में जुट गई और शिकारियों को गिरफ्तार करने सर्चिंग अभियान चलाया। जिले में बंदूक से शिकार का दूसरा मामला सामने आया है।इसके पहले फरवरी माह में बांधवगढ टाइगर रिजर्व के धमोखर परिक्षेत्र में गोली मारकर चीतल का शिकार शिकारियों ने किया था।
हालांकि चीतल के शिकारियों को वन विभाग ने गिरफ्तार कर लिया। चीतल के शिकार के मामले में 10 आरोपी गिरफ्तार हुए हैं और दो आरोपी फरार है। बंदूक भी वन विभाग ने जप्त कर लिया है और टीम जांच में जुटी हुई हैं।

वहीं एसडीओ वन पाली दीपेन्द्र सिंह पटेल ने बताया कि 2 दिसम्बर 2023 को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ संदिग्ध व्यक्तियों द्वारा चीतल का मांस ग्राम में पकाया जा रहा है, तब वन विभाग की टीम द्वारा उन दो व्यक्तियों के घर की छानबीन की गई जिसमें उन लोगों के घर मे चीतल का मांस बरामद किया गया, उन दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया, जब उनसे पूंछतांछ की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि इसमें 12 लोग शामिल हैं, जिसमें 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया, एक मुख्य आरोपी प्रदीप बैगा है जिनके द्वारा बंदूक से गोली मार कर चीतल का शिकार किया गया था। बंदूक पंडित बैगा द्वारा जंगल मे ही जप्त करवा दी गई। सभी व्यक्तियों पर वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 2(16), धारा 9, धारा 39, धारा 51 और धारा 57 के तहत मामला दर्ज किया गया है और आरोपियों को न्यायालय में पेश कर दिया गया जहां से जेल भेज दिया गया।
सबसे खास बात तो यह है कि आचार संहिता के दौरान बंदूक से शिकार किया गया, जबकि जिले भर ही नही प्रदेश भर के शस्त्र लाइसेंस निलंबित रहे और सभी शस्त्र थानों में जमा रहे फिर कहाँ से यह बंदूक बाहर आई और चीतल का अवैध शिकार हो गया। इस अवैध शिकार ने यह साबित कर दिया कि सारे नियम कानून शरीफ लोगों पर ही लागू होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here