Home वाइल्डलाइफ महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

105
0

महुआ बीनते समय दिन में 11 बजे Tiger ने किया हमला, ग्रामीण घायल, वन विभाग की नही पहुंची टीम, ग्रामीणों ने बाइक से लाया अस्पताल।

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

M P – उमरिया जिले के विश्व विख्यात बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व क्षेत्र में फिर एक ग्रामीण tiger के हमले से घायल।
मानपुर रेंज अंतर्गत आने वाले बफर जोन के बड़खेरा बीट के आर एफ 332 के ख़िरहा नाला में ग्राम डोड़का निवासी 42 वर्षीय ग्रामीण पर tiger ने किया हमला ग्रामीण घायल।

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

मानपुर रेंजर मुकेश अहिरवार ने बताया कि बड़खेरा बीट के R F 332 बफर जोन अंतर्गत आने वाले ख़िरहा नाला में ग्रामीण महुआ बीनने गए थे, सभी लोग अपने – अपने पेड़ के नीचे महुआ बीन रहे थे उसी दौरान Tiger ने ग्राम पंचायत डोड़का अंतर्गत आने वाले ग्राम खोली के रहने वाले रामदास सिंह पिता लल्ला सिंह उम्र 42 वर्ष के उपर tiger ने हमला कर दिया जिससे वो घायल हो गया।

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

हमको सूचना देर से मिलने के कारण हम लोग उनको लेने नही जा पाए तो ग्रामीण अपनी ही Bike पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मानपुर लेकर आ गए। हम अस्पताल पहुंच कर घायल को तात्कालिक सहायता राशि 1 हजार दे दिए हैं।

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

वहीं घायल के परिजनों द्वारा बताया गया कि हम लोग वन विभाग को तत्काल सूचना दिए लेकिन सूचना के घंटों बाद भी वन विभाग से किसी तरह की मदद नही मिली तो हम मजबूरन मोटरसाइकिल से घायल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानपुर लेकर आये।जहां Doctor द्वारा इलाज किया जा रहा है और बाद में वन विभाग वाले आये और 1 हजार रुपया दिए हैं।

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

वहीं पूर्व A C F और Wildlife specialist N S कोरचे ने बताया कि महुआ बीनने के दौरान अधिकतर tiger के हमले से घायल होने की घटनाओं का मूल कारण जो सामने देखने मे आया वह यह है कि अधिकांश घटनायें उस स्थिति में होती हैं जब कोई भी ग्रामीण चाहे वह महिला हो या पुरुष, झुक कर महुआ बीनते हैं। ऐसी स्थिति में tiger को धोखा हो जाता है कि यह हमारा शिकार है लेकिन तब तक वह हमला कर देता है और उसको बाद में समझ मे आता है कि यह तो मनुष्य है और वह भाग जाता है। ऐसी स्थिति में मनुष्य या तो घायल होकर रह जाता है या उसकी death हो जाती है। वहीं उन्होंने ग्रामीणों को सलाह भी दिया है कि महुआ बीनने के दौरान झुक कर न बीनें जिससे आप सुरक्षित रह सकें।

महुआ बीनने के दौरान Tiger के हमले से ग्रामीण घायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here