Home हेल्थ कोविड सेंटर के वीडियो वायरल, दारू बदनाम करती गाने पर नर्सों ने...

कोविड सेंटर के वीडियो वायरल, दारू बदनाम करती गाने पर नर्सों ने लगाए जम कर ठुमके

63
0

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया 31 अगस्त – कोविड 19 के चलते सरकारें कहती हैं कि कोरोना मरीज के देखभाल में कोई भी दिक्कत नहीं आनी चाहिए जिसके लिए सरकार भरपूर पैसा भी खर्च कर रही है लेकिन बीच में बैठे सरकारी दलालों ने इतना भ्रष्टाचार किया है कि मरीजों के खाने से पैसे बचा कर अस्पताल के अंदर उसी पैसे से पार्टी मनाई जाती है, वह भी वहां जो प्रदेश सरकार की कैबिनेट मंत्री की विधानसभा क्षेत्र हो, वहीं जिले के सी एम एच ओ ही जब भ्रष्ट हों तो क्या उम्मीद की जा सकती है, आइए देखते हैं कोविड-19 की ग्राउंड रिपोर्टिंग
मामला उमरिया जिले के मानपुर विधानसभा क्षेत्र में आने वाले पाली ब्लॉक के उप स्वास्थ्य केंद्र का है जहां पर आए दिन वायरल हो रहे वीडियो को देखकर लोग दंग रह जा रहे है जहां पर दारू बदनाम करती है की तर्ज पर पार्टी की जा रही है जोरो का नृत्य जारी है यह है अस्पताल की नर्सें है जो मरीजों को न देख कर नृत्य करने में व्यस्त हैं और कोरोना के मरीज भोजन के लिए तरस रहे हैं, वो खुद अपना वीडियो वायरल कर सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि पेट भर भोजन तो दे दो मामा नही तो घर जाने दो।

राजेश
विवेक
सुरेश चंद

इन सबके बाद जब अब जिले के बेहद ईमानदार सी एम एच ओ डॉक्टर राजेश श्रीवास्तव जिनकी अभी सिंगरौली जिले की 80 लाख के घोटाले की जांच भी लंबित है, उनका कहना है कि सरकार ₹300 खाने के नाम पर देती है जो हम बराबर खर्च करके खाना देते हैं और पूरा देख रेख किया जा रहा है कोई लापरवाही नही बरती जा रही है।

दिया जा रहा खाना
डॉक्टर राजेश श्रीवास्तव सी एम एच ओ


वहीं जिले के कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव का कहना है मेरे जानकारी में खाने का मामला आया था हमने उसमें सख्त निर्देश दिए हैं और उसकी गुणवत्ता में सुधार हुआ है और कम खाना देने के मामले में हमने एस डी एम को निर्देशित किया है जो इस पर नजर रखेंगी और अस्पताल में डांस का जो वीडियो वायरल हुआ है उसमें जो सम्मिलित होगा उस पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

संजीव श्रीवास्तव कलेक्टर


इस वैश्विक महामारी कोरोना में सरकार के नियम कानून बड़े सख्त हैं कि शादी समारोह भीड़-भाड़ इलाके में जाना प्रतिबंधित है कोई भी कार्यक्रम करने के लिए शासकीय स्वीकृति की आवश्यकता पड़ती है लेकिन यहां तो कोविड सेंटर में ही पार्टी मनाई जा रही है मरीजों को खाना नहीं दिया जा रहा है और अधिकारी ए.सी. की हवा खा रहे हैं और सरकार पैसा भी दे रही है खाओ खाओ मामा की सरकार है, वहीं जब तक ऐसे सी एम एच ओ रहेंगे तो क्या उम्मीद की जा सकती है, जब पूरा मामला प्रदेश की आजाक मंत्री की विधानसभा का हो।

पाली अस्पताल

Previous articleनही निकली बाबा की सवारी, कोविड 19 के नियमों का हुआ पालन, चप्पे चप्पे पर तैनात रही पुलिस
Next articleबी एम ओ की क्लिनिक हुई सील, 2017 से नही थी अनुमति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here